Tomato Flu: जरूरी बचाव, लक्षण और कितना खतरनाक?

इस संक्रमण को Tomato Flu नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि इससे संक्रमित बच्चे के शरीर पर लाल फफोले दिखाई देते हैं

कोरोना और मंकीपॉक्स के खतरे के बीच बच्चों में होने वाले टोमैटो फ्लू के मामले फिर से सामने आने लगे हैं. अब तक केरल में इस फ्लू से 82 बच्चे संक्रमित हो चुके हैं

मेडिकल जर्नल द लैंसेट रेस्पिरेटरी जर्नल के मुताबिक, मई में केरल में ये फ्लू फैलना शुरू हुआ था 

टोमैटो फ्लू एक संक्रामक बीमारी है, जो एक से दूसरे बच्चे में भी फैल सकती है 

इस फ्लू के फैलने के कारणों के बारे में कोई जानकारी नहीं है. हालांकि इसे चिकनगुनिया या किसी वायरस की वजह से होने वाली बीमारी माना जा रहा है 

इसके लक्षणों में तेज बुखार, शरीर में दर्द, जोड़ों में सूजन और थकान शामिल हैं.चिकनगुनिया की तरह कुछ मामलों में मतली, उल्टी, दस्त, बुखार, डिहाइड्रेशन, जोड़ों में सूजन और शरीर में दर्द होने जैसी परेशानी भी देखी जा सकती है. 

राहत की बात यह है कि अभी तक केरल, तमिलनाडु और ओडिशा के अलावा देश के किसी और राज्य में इसके केस दर्ज नहीं किए गए हैं 

वरिष्ठ फिजिशियन डॉ. कवलजीत सिंह कहते हैं कि अब तक सिर्फ दो या तीन राज्यों में ही इसके केस आए हैं. इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, लेकिन ये जानलेवा नहीं है 

क्या सेब के अंदर छिपा है जहरीला तत्व ?